pros-and-cons-legalizing-online-cricket-betting-hindi

Pros And Cons Of Legalizing Cricket Betting In Hindi 2024

Online Cricket Betting In Hindi | Pros And Cons Of Legalizing Cricket Betting In Hindi: भारत में जैसे-जैसे Cricket का क्रेज़ बढ़ रहा है, वैसे-वैसे ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग की मांग और ट्रेंड आसमान छू रहा है।

इसके पीछे प्रमुख वजह है कि आप ऑनलाइन बेटिंग से कभी-भी और कहीं से भी बेट लगा सकते हैं और यह ऑफलाइन बेटिंग की तुलना में सुरक्षित भी है।

लेकिन, आपको बता दू कि भारत में अभी-भी क्रिकेट बेटिंग को लीगल मान्यता नहीं मिली है। हालांकि, लम्बे समय से यह बहस छिड़ी-हुई है कि पच्छिमी देशों की तरह भारत में भी क्रिकेट बेटिंग को लीगल यानि क़ानूनी दायरे में लाना चाहिए।

कुछ लोगों का मानना हैं कि क्रिकेट बेटिंग को लीगल करने से भारत की अर्थव्यवस्था को काफ़ी लाभ हो सकता हैं। वहीं, कुछ लोगों का मानना है कि क्रिकेट बेटिंग लीगल कर देने से अपराध में बढ़ोतरी होंगी। 

तो आइये, इस आर्टिकल में विस्तार से जानते है कि क्रिकेट बेटिंग क्या है? क्रिकेट बेटिंग को लीगल करने से क्या फ़ायदे और नुकसान हो सकते हैं?

अधिक पढ़ें: Winner Of IPL 2024

ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग क्या है (What Is Online Cricket Betting In Hindi)?

क्रिकेट बेटिंग का मतलब है एक तरह से मैच प्रेडिक्शन करना। सरल शब्दों में कहें तो, क्रिकेट मैच में आगे क्या होगा या हो सकता इसकी भविष्यवाणी करना। आमतौर पर, क्रिकेट बेटिंग को हम सट्टेबाजी के नाम से जानते है।

सट्टा लगाने की यह प्रक्रिया जब ऑनलाइन किसी वेबसाइट (Online Betting Sites) या ऑनलाइन अप्प्स (Online Cricket Betting Apps) से होती है, तब उसे ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग कहते है। लेकिन, जैसा हमने ऊपर बताया भारत में क्रिकेट बेटिंग करना यह गैर-क़ानूनी कार्य है।

भारत के संविधान और पब्लिक गैंबलिंग एक्ट, 1976 के अंतर्गत भारत के सभी राज्यों को बेटिंग से संबंधित कानून बनाने के अधिकार मिले है। हालांकि, कुछ राज्यों (गोवा, सिक्किम और दमन) ने ऑनलाइन खेल व बेटिंग को क़ानूनी मान्यता दी है।

लेकिन, इसमें बुकमेकर्स को कार्यालय खोलने के अधिकार नहीं दिए है। वहीं इस एक्ट में ऑनलाइन बेटिंग का उल्लेख नहीं किया गया है, इसीलिए इस संबंधी कानून अब तक भारत में मौजूद नहीं हैं (Online Cricket Rules In India In Hindi)।

क्रिकेट बेटिंग लीगल करने के फ़ायदे और नुकसान (Pros And Cons Of Legalizing Cricket Betting In Hindi)?

जैसा कि हमने जाना हमारे देश में क्रिकेट बेटिंग को अभी तक क़ानूनी मान्यता नहीं दी गई है, जबकि कई पश्चिमी देशों में यह क़ानूनी रूप से मान्य है। जिस का फायदा उन देशों की अर्थव्यवस्था को मिल रहा है।

वहीं, क़ानूनी मान्यता न होने की वजह से लोग कानून की नज़रों से बचकर क्रिकेट बेटिंग करते हैं। बेशक़ यदि कोई पकड़ा जाएं तो उसे सज़ा भी दी जाती है।

लेकिन, यदि भारत में क्रिकेट बेटिंग को क़ानूनी मान्यता मिल जाएं तो इसके क्या फायदे एवं नुकसान हो सकते हैं? आइये जानते हैं:

क्रिकेट बेटिंग लीगल करने के फायदे (Pros Of Legalizing Cricket Betting In India In Hindi):

1. अर्थव्यवस्था मजबूत होगी

क्रिकेट बेटिंग को वैध करने से बुक मेकर और पंटर दोनों भी कानूनी दायरों में काम करेंगे(Pros And Cons Of Legalizing Online Cricket Betting In Hindi) । इसके अलावा, अपनी कमाई पर वह सरकार को कर (टैक्स) भी देंगे।

जिससे देश की अर्थव्यवस्था को फायदा होगा। उदाहरण के तौर पर समझे तो, यदि बांग्लादेश में क्रिकेट बेटिंग मार्केट का कुल मूल्य 10,000 रुपये करोड़ है।

और यदि बांग्लादेश में क्रिकेट बेटिंग कानून के दायरे में लाई जाती है और वहां सभी बुकमेकर और पंटर बांग्लादेश सरकार को अपने कुल मुनाफे का 21 प्रतिशत कर देते हैं।

तो इस तरह बांग्लादेश सरकार को 2,100 रुपये करोड़ का कर का लाभ मिल सकता है। जिस वजह से बांग्लादेश की अर्थव्यवस्था मजबूत होने में मदद होगी। 

2. अवैध बुकमेकर बंद होंगे

भारत में क्रिकेट बेटिंग को क़ानूनी मान्यता (Cricket Betting Legal In Hindi) ना होने के कारण कई पंटर काला बाजार में किसी अवैध बुकमेकर के साथ बेटिंग करते हैं।

यदि क्रिकेट बेटिंग को लीगली मान्यता मिलती है तो काला बाजार में काम करने वाले बुकी को क़ानूनी दायरे में काम करने होंगे।

जिस वजह से वे सभी कानून की देख-रेख में काम करेंगे। और यदि इसके बावजूद कोई बुकी बिना लाइसेंस लिए कार्य करता है, तो उस पर कानूनी रूप से कड़ी कार्यवाही की जा सकती है।

3. कालाबाजारी बंद होगी

वर्तमान में जितने भी काला बाजार हैं, वहां के सभी बुकी या पंटर सरकार और कानून से बचकर कार्य करते हैं। जिस वजह से उनके पैसे का कोई हिसाब-किताब मौजूद नहीं होता है।

यदि क्रिकेट बेटिंग को लीगल कर दिया जाता है, इन पैसों का हिसाब रखा जा सकता है (Pros And Cons Of Legalizing Online Cricket Betting In Hindi) और यह काला बाजारी बंद हो सकती है।

4. धोखाधड़ी बंद होगी

ऑफलाइन क्रिकेट बेटिंग में धोखाधड़ी होना यह सबसे सामान्य बात है। कई बुकी ऐसे हैं जो पंटर को सही समय पर उनके पैसे नहीं देते या उनके साथ धोखाधड़ी करते हैं।

ऐसी स्थिति में पंटर को कानून का सहारा नहीं मिल पाता, क्योंकि उसे पता है (Online Cricket Betting Tips In Hindi) यह गैर-क़ानूनी काम हैं।

लेकिन, यदि क्रिकेट बेटिंग को लीगल किया जाए तो इन धोखाधड़ी पर लगाम लगाई जा सकती हैं। इसके साथ ही, पंटर के साथ धोखाधड़ी होने पर उसे कानून सहारा भी मिल सकता है।

क्रिकेट बेटिंग लीगल करने के नुकसान (Cons Of Legalizing Cricket Betting In India In Hindi):

1. अपराध बढ़ेंगे 

भारत में कई लोग ऐसे हैं जिन्हे छोटी-छोटी बेटिंग करना काफ़ी पसंद हैं। आमतौर पर यह लोग आर्थिक रूप से गरीब या मध्यम वर्ग से आते हैं।

यदि बेटिंग को क़ानूनी वैधता मिल जाती है तो इन वर्ग के लोग खुलकर बेटिंग करेंगे, जिससे उन्हें जुए की लत लग जाएंगी।

और यदि उनके पास बेटिंग करने के लिए पैसे नहीं रहें, तो वे अपराध की दुनिया में उतर कर गैर-क़ानूनी ढंग से पैसे लाकर बेटिंग कर सकते हैं। जिससे अपराध में बढ़ोतरी हो सकती है। 

2. गैर-कानूनी अभ्यास बढ़ेंगे 

कोई भी बुकमेकर यह नहीं चाहेगा कि उसका पंटर जीत जाए और वह खुद हार जाए। ऐसे में यदि क्रिकेट बेटिंग को क़ानूनी तौर पर मान्यता मिलती है, तो बुकमेकर अपने ग्राहकों को लुभाने के लिए गलत मार्केटिंग या विज्ञापन की पेशकश कर सकते है।

ताकि इन विज्ञापन देखकर पंटर और आम लोग उस की ओर आकर्षित हो और अधिक से अधिक बेट लगा कर जुआ (Pros And Cons Of Legalizing Online Cricket Betting In Hindi) खेले।

3. बेटिंग की लत लग जाएगी

क्रिकेट बेटिंग या सट्टा यह एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसकी लत लगना आम बात है। फिलहाल कानून और धोखाधड़ी होने के डर से आमतौर पर सामान्य लोग बेटिंग नहीं करते।

लेकिन यदि क्रिकेट बेटिंग को वैध कर दिया जाए, तो बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी इस बेटिंग की लत के शिकार हो सकते हैं। 

निष्कर्ष (Pros And Cons Of Legalizing Cricket Betting In Hindi):

इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद शायद अब आप जान गए होंगे कि Online Cricket Betting Kya Hai? और Cricket Betting Ko Legal Karne Ke Fayade Or Nuksan क्या हो सकते हैं? अब आप खुद ही इस बात पर विचार-विमर्श कर अपना निष्कर्ष निकालिए कि क्रिकेट बेटिंग को लीगल करना चाहिए या नहीं?

यदि इसके व्यतिरिक्त आपका इससे संबंधित कोई सवाल (Is Online Betting Legal in India In Hindi) हो, जिसका उत्तर आपको इस आर्टिकल में नहीं मिला हो, तो आप उसे निचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हमारी पूरी कोशिश रहेगी हम आपके सभी सवालों के जवाब दे। 

FAQ 

Pros And Cons Of Legalizing Cricket Betting In Hindi

1. क्या बेटिंग साइट भारत में कानूनी हैं (Is Betting Sites Legal In India)?

1867 का सार्वजनिक जुआ अधिनियम एक केंद्रीय कानून है, जो सार्वजनिक जुआ चलाने या उसके प्रभारी होने पर रोक लगाता है। इस कानून को तोड़ने पर ₹200 का जुर्माना या 3 महीने तक की कैद का प्रावधान है। अधिनियम जुआ घरों में जाने पर भी प्रतिबंध लगाता है। ₹100 का जुर्माना या एक महीने तक की कैद की सजा है।

2. क्या भारत में ऑनलाइन सट्टेबाजी कानूनी है (Is Online Betting Legal In India)?

भारतीय कैसिनो, स्पोर्ट्स बेटिंग और बिंगो जैसे ऑनलाइन जुए के खेल का प्रचार या प्रचार करने वाली साइटें नहीं रख सकते हैं। गैर-भारतीय कैसीनो कंपनियों (तथाकथित ऑफशोर कंपननी) के लिए भारतीय खिलाड़ियों पर केंद्रित साइटों का होना अवैध नहीं है।

अन्य आर्टिकल पढ़े

25 thoughts on “Pros And Cons Of Legalizing Cricket Betting In Hindi 2024”

  1. Pingback: How To Online Betting In Cricket In Hindi 2022 | ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग कैसे करें Casino Life

  2. Pingback: तीन पत्ती जीतने के टिप्स और ट्रिक्स | Teen Patti Tips, Tricks, Hacks In Hindi

  3. Pingback: Online Satta In Hindi | ऑनलाइन सट्टा क्या है और Online Satta कैसे लगाएं?

  4. Pingback: ऑनलाइन क्रिकेट बेटिंग कैसे करें? | How To Online Betting In Cricket In Hindi

  5. Pingback: How To Use Betting Exchange In Hindi | बेटिंग एक्सचेंज क्या है, विशेषताएं, फ़ायदे और नुकसान, इस्तेमाल कैसे करें? - Casino Life

  6. Pingback: Jhandi Munda Win Trick Hindi | झंडी मुंडा क्या है, झंडी मुंडा जीतने के टिप्स 2023

  7. Pingback: Online Casino Games In Hindi: ऑनलाइन कैसीनो से पैसे कैसे कमाए?

  8. Pingback: Online Game Khel Kar Paise Kaise Kamaye? 2023

  9. Pingback: Online Games In Hindi: इन 10 ऑनलाइन गेम्स को खेलकर आप भी बन सकते हैं माला-माल

  10. Pingback: Andar Bahar Winning Tricks In Hindi: अंदर-बाहर खेल क्या है, कैसे खेले और जीतने की ट्रिक्स

  11. Pingback: Blackjack Tips In Hindi: ब्लैकजैक क्या है, इसे जीत ने की सर्वश्रेष्ठ रणनीति

  12. Pingback: Is It Legal To Play Online Casino In India In Hindi: भारत में कैसीनो पर जुआ खेलना अवैध है?

  13. Pingback: How To Play Dragon Tiger Game In Hindi: ड्रैगन-टाइगर कैसे खेले और जीतने के टिप्स

  14. Pingback: Jhandi Munda In Hindi: झंडी-मुंडा क्या है, Jhandi Munda Kaise Khelen 2023

  15. Pingback: Free Cricket Betting Tips In Hindi: क्रिकेट पर सट्टा लगाने के लिए ज़रूरी टिप्स

  16. Pingback: Hollywood And Bollywood Movies On Gambling In Hindi: जुए पर बनी सबसे अच्छी फ़िल्मे

  17. Pingback: Online Rummy In Hindi: ऑनलाइन रमी क्या है, इतिहास, नियम, जीतने के टिप्स 2023

  18. Pingback: 5 Reasons Why Online Gambling Is Useful In Hindi: ऑनलाइन बेटिंग क्यों अच्छी है?

  19. Pingback: Online Casino Account Ko Surakshit Kaise Rakhen: Tips To Keep Casino Account Safe In Hindi

  20. Pingback: Online Teen Patti Tips In Hindi: तीन पत्ती में जीतने के टिप्स

  21. Pingback: Gambling Vs Gaming In Hindi: ऑनलाइन गैंबलिंग और ऑनलाइन गेमिंग में क्या अंतर हैं?

  22. Pingback: History Of Cricket In Hindi: क्रिकेट का इतिहास क्या है, शुरुआत कब हुई? 2023

  23. Pingback: Teen Patti In Hindi: तीन-पत्ती क्या है? Teen Patti Kaise Khelen 2023

  24. Pingback: Best Live Dealer Games In Hindi: लाइव डीलर गेमिंग और स्टैंडर्ड ऑनलाइन गेमिंग में क्या अंतर हैं?

  25. Pingback: Online Satta Kaise Lagaye: Best IPL Betting Apps Konse Hai 2023

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *